सीज़र दौरे का अर्थ (२ प्रकार, १०० से अधिक नाम!!!) – Seizure Meaning in Hindi

सीज़र दौरे का अर्थ (Seizure meaning in Hindi) है दिमाग में इलेक्ट्रिसिटी अनियंत्रित होने से अजीब लक्षण होना.

हम सब को ये पता है के सीज़र के दौरे में  शरीर जोर-जोर से हिल सकता है.

पर क्या आप जानते है के इस अनियंत्रित एलेक्ट्रिक्ट्य से कोई भी लक्षण हो सकते है?

इनमे से कई सीज़र के लक्षणों को नाम दिया गया है. सीज़र के ऐसे १०० से अधिक लक्षण है जिनका नाम है.

अक्सर सीज़र के इन अन्य लक्षणों को नज़रअंदाज़ किया जाता है. ऐसे होता है, क्यों के अधिकाशं लोगों को सीज़र दौरे का अर्थ पता नहीं होता.

सीज़र दिमाग के किस भाग में है, इसके आदर पर इन लक्षणों को २ प्रकारों में बाटा गया है:

सीज़र के २ मुख्य प्रकार
१ . फोकल सीज़र – छोटा सीज़र जो दिमाग के एक छोटे से भाग से शुरू होता है, और अक्सर वहीँ पर सिमित रहता है.
२ . जनरलाइज़्ड सीज़र – बड़ा सीज़र दो पुरे दिमाग में अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी की अगणित चिंगारियां जलाता है.

सीज़र के दौरे का अर्थ पूरी समझने हमें इन चीज़ों को जानना होगा:

  1. सीज़र के दौरे क्यों होता है?
  2. सीज़र के दौरे के लक्षण क्या होते है?
  3. सीज़र के दौरे का निदान कैसे होता है?
  4. सीज़र के दौरे का उपचार क्या है?

अगर सीज़र के दौरे बार-बार होते है, आपके दिमाग को सीज़र होने की आदत होती है – तो इस बीमारी को एपिलेप्सी कहते है.

सीज़र के दौरे के बारे मैं पढ़ने के बाद, यहाँ  वापस आकर ये दबाए: ( Meaning of Epilepsy in Hindi – मिर्गी की बीमारी का अर्थ )

हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा है. इसीलिए,अधिकांश लोगो को दौरे का अर्थ हिंदी में (Seizure meaning in Hindi) समझाने का ये प्रयास है.आइये, सीज़र का अर्थ (Seizure meaning in Hindi) समझते है!

हमारे दिमाग का नियंत्रित काम

हमारा दिमाग इलेक्ट्रिसिटी और रसायनो पे चलता है.

2oPDbnZXH0
हमारे दिमाग के अलग-अलग हिस्से अलग-अलग कार्य करते है.

जब हमारे दिमाग का एक भाग किसी और भाग को संकेत देना चाहता है, तो वो इलेक्ट्रिसिटी का एक छोटा सा करंट वहां भेजता है.

ऐसे करोडो छोटे-छोटे करंट हमारे दिमाग में लगातार बहते है.

ये सारे ही करंट नियंत्रित होते है.

जब आप चाहते हो, तब ही आप का दिमाग हाथ हिलने का संकेत भेजता है. जब आप चाहते हो, तब ही आपका दिमाग मुँह से आवाज़ निकालता है.

फोकल सीज़र का दौरा क्यों होता है (Focal Seizure meaning in Hindi)?

अब सोचिये अगर दिमाग के कोई दो छोटी वायर एक दूरसे के ऊपर चिपक जाये. इसे अंग्रेजी में क्रॉस-कनेक्शन कहते है.

तो फिर क्या होगा?

हाँ. वहां की इलेक्ट्रिसिटी अनियंत्रित हो जायेगी. इलेक्ट्रिसिटी बिना वजह फड़-फडाने लगेगी.

FocalSeizure
जब दिमाग के एक ही भाग में अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी होती है, तो उसे फोकल सीज़र या फिर “छोटी सीज़र का दौरा” कहते है.

जब ये अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी दिमाग के एक भाग तक सिमित होती है, तब बारीक़ लक्षण होते है. जैसे:

  • अगर दिमाग के उस भाग में इलेक्ट्रिसिटी अनियंत्रित होती है, जो हाथ हिलता है, तो हमारा हाथ अपने-आप फड़फड़ाने लगता है.
  • अगर दिमाग के सुगंध के भाग में इलेक्ट्रिसिटी अनियंत्रित होती है, तो हमें बिना-वजह बहोत अच्छी, या फिर बहोत गंदी बास आने लगती है.

जैसे, डॉक्टर जनक पटेल ने पोस्ट किया हुआ ये वीडियो देखे। इस मरीज़ को फोकल सीज़र हो रहा है, जिसके कारन उनका सिर्फ बायां पैर हिल रहा है.

इसे अंग्रेजी में “Focal Seizure” कहते है. आप इसे हिंदी में “छोटा दौरा” कह सकते है.

बड़ा सीज़र का दौरा क्यों होता है (Generalized Seizure meaning in Hindi)?

एक बादल की तरह, कभी कभी ये अनियंत्रित इलेक्ट्रिक १०-१५ सेकंड में पुरे दिमाग में फ़ैल जाती है.

ऐसा हर बार नहीं होता. मगर जब ये होता है, तब पूरा शरीर जोर-जोर से हिलता है.

Generalized seizure
जब अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी पुरे दिमाग में फैलती है, तो उसे जनरलाइसीड सीज़र या फिर “बड़ा सीज़र का दौरा” कहते है.

आदमी का होश खो जाता है, और कभी-कभी वह जबान काट लेता है. आँखे खुली होती है. अक्सर बड़े दौरे में मरीज़ अपने पिसाब या संडास पे संतुलन खो देता है.

जैसे, इस व्यक्ति को देखिये. पुरे दिमाग में अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी फैलने के कारण इनका पूरा शरीर जोर-जोर से हिल रहा है.

सीज़र का बड़ा दौरा आम तोर पे सिर्फ १-२ मिनिट लम्बा होता है.

ऐसे बड़े दौरे के बात, आदमी थक जाता है. उसे पूरी तरह ठीक होने में २० मिनिट से भी ज़्यादा लग सकते है.

इसे अंग्रेजी में “Generalized Seizure” कहते है. आप इसे हिंदी में “बड़ा दौरा” कह सकते है.

सीज़र में इलेक्ट्रिसिटी अनियंत्रित क्यों हो जाती है?

थोड़ी गहराई में जाते है.

Seizure meaning in Hindi आपको जल्द से समझने के लिए मेंने कहा था की क्रॉस-कनेक्शन से इलेक्ट्रिसिटी अनियंत्रित होती है.

ये क्रॉस-कनेक्शन के असली कारन समझना थोड़ा पेचीदा है. इसलिए में इनके बारे में सिर्फ संक्षेप में बात करूँगा. अगर आपको सीज़र के कारणों में और भी संशोधन करना है, तो यहाँ दबाए [डॉ बालेस्ट्रिनी ने लिखा हुआ लेख, अंग्रेजी में].

कारण १. पेशियों की सुरंगों में बिघाड: दिमाग की पेशियों में परमणु अंदर-बहार जाने के लिए बारीक़ सुरंग होती है. अगर इनमे से एक सुरंग बिघड जाए, तो सीज़र की बीमारी हो सकती है.

कारण २. बच्चे का कोक में अनियमित विकास: हमारा दिमाग कोक में पूरी तरह बन जाता है. अगर इस वक़्त दिमाग के उत्थान में कोई समस्या हो जाये, तो सीज़र की बीमारी हो सकती है.

pregnant 6178270 1920
ास्डफ

कारण ३. खून में ख़राब रसायन: कभी-कभी लिवर या किडनी की बीमारी के कारण खून में ख़राब रसायन जामा हो जाते है. इनसे सीज़र की बीमारी हो सकती है.

कारण ४: जनम के बाद दिमाग को चोट: यदि दुर्घटना के कारण, ब्रेन-ट्यूमर के कारण, लकवे के कारण दिमाग को भरी चोट होती है, तो इससे सीज़र हो सकते है.

HeadTrauma

सीज़र के अन्य लक्षण

सीज़र के कई लक्षण हो सकते है.

मगर दिमाग के थोड़े भागों  में सीज़र अक्सर होता है. इसीलिए इन भागों से होने वाले लक्षण अक्सर दिखाई देते है.

अक्सर दिखाई देने वाले सीज़र के लक्षण
  1. गन्दी बदबू या फिर बहोत ज़्यादा मीठी सुगंध
  2. गन्दा स्वाद – थोड़े लोगों को तो मुँह में खून या धातु का स्वाद आता है.
  3. अचानक बहोत ज़्यादा डर या व्याकुलता
  4. स्मृति के विकार – जैसे मरीज़ को लगता है के ऐसा तो मेरे साथ हुआ है!
  5. अचानक दृश्य-भास् (दुःस्वप्न) होना
  6. शरीर के भाग/हाथ या पाँव में झुनझुनी
  7. शरीर के भाग/हाथ या पाँव में कंपन
  8. अपनी ही दुनिया में खो जाना, अनुत्तरदायी हो जाना.

जैसे, इस लड़के  को देखिये. ये बिच में ही कहीं खो जाती है, इसे दृश्य-भास् (दुःस्वप्न) हो जाता है:

यू-ट्यूब – डॉक्टर राजीव गुप्ता के द्वारा वीडियो:

 

मगर जैसे मेंने कहा, सीज़र में कोई भी लक्षण हो सकते है. तो ये है सीज़र के असामान्य लक्षण:

सीज़र के असामान्य लक्षण
  1. अचानक बिना वजह गुस्सा
  2. अचानक बिना वजह बहुत ज़्यादा ख़ुशी या बहुत ज़्यादा दुःख.
  3. शरीर से बहार तैरने का एहसास
  4. अचानक से मतली/उलटी का एहसास
  5. अचानक से पिसाब करने की इच्छा होना
  6. चक्कर
  7. आवाज़े सुनाई देने के भास होना
  8. तेज़ी से आँखे फड़फड़ाना

laughing boy

सीज़र के दौरे के अंग्रेजी में इतने-सारे नाम क्यों है?

अब आप Seizure meaning in Hindi (मतलब दौरे का अर्थ) जान गए हो. सरल शब्दों में लक्षणों का वर्णन करने से अर्थ साफ़ रहता है.

पर डॉक्टरों को तो इतने सरल नामो से संतुष्टि नहीं होती!!!

मज़ाक छोड़ा जाए, तो फिर भी अंग्रेजी के जटिल शब्दों की जरूरत अक्सर नहीं होती. पर ये शब्द आपको सीज़र के लक्षण बताने में मेरी मदत करेंगे.

नामो से भी ज़्यादा, आपको  सीज़र के लक्षण पर ध्यान देना है. ताकि अगर आपको, या आपके परिवार में किसीको ऐसे लक्षण हो तो आप उन्हें पहचान पाए.

KpJFhquZdy
सीज़र के दौरे के एकदम सरल नाम रखे. इससे आपको डॉक्टर से बात करने में आसानी होगी।

सीज़र दौरे के दौरान जो लक्षण होते है, उनके आधार पर छोटे दौरों को अन्य वैज्ञानिक नाम दिए गए है:

(Focal Seizures) छोटे दौरे के लक्षण और नाम

जैसे हमने समझा, छोटे दौरे दिमाग के एक ही हिस्से में होते है. इससे छोटे लक्षण होते है.

Focal Seizure meaning in Hindi जानने के लिए ये छोटे लक्षण जानना जरूरी है.

इन छोटे दौरों के अंग्रेजी नाम है ऑटोमाटिस्म, डेजा-वू इत्यादि. इनके बारे में विस्तार में पढ़ने के लिए निचे के क्रॉस वाले चिन्ह को दबाये:

छोटे लक्षणों के लक्षण और अंग्रेजी नाम
छोटे दौरे का नामछोटे दौरे के लक्षण (Focal Seizure meaning in Hindi)
ऑटोमेटिस्ममरीज़ स्वचालित रूप से चीज़े करने लगता है – जैसे हाथों को मसलना, जीभ अंदर-बहार करना, चटकारे लेना (lip smacking seizure) इत्यादि
डिसोसिएटिव सीज़रमरीज़ अपने ही खयालो में खो जाता है. वह अनुत्तरदायी हो जाता है.
डेजा-वू सीज़रमरीज़ को अजीब लगता है. उसको ख्याल आता है  “अरे! ये तो मेरे साथ हुआ है”
जामे-वू सीज़रमरीज़ को अजीब लगता है. उसे पाहिले भी सीज़र का दौरा आये हुए होते है, मगर उसके बाबजूद उसको ख्याल आता है “अरे! ये तो सब नया-नया है”
हाइपर-कायनेटिक सीज़रमरीज़ अति-उत्तेजित हो जाता है!!! वह कोई मछली की तरह, या तो जेल के कैदी की तरह जोर-जोर से चिल्लाता है, हिंसक प्रकार से बलपूर्वक और तेज़ हाथ-पैर जटकटा है!
डेकरी-सिस्टिक सीज़रमरीज़ बिना-वजह रोने लगता है
गेलास्टिक सीज़रमरीज़ बिना-वजह हसने लगता है

जैसे, इस लड़की को देखिये. खेलते-खेलते ये कहीं खो जाती है, और उसकी दायनी आँख फड़कने लगती है. इसे ऑटोमेटिस्म कहते है – ये एक प्रकार का सीज़र का दौरा है.

कितना आसान है ऐसे असामान्य सीज़र के लक्षण देखकर उनका मज़ाक उड़ाना! कितना आसान है बेचारे मरीज़ का बिना वजह मज़ाक उड़ाना!

ऐसे न करिये. सीज़र के लक्षण पहचानिये. उनका जल्द-से-जल्द उचित उपचार कीजिये.

(Generalized Seizures) बड़े दौरे के लक्षण और नाम

जैसा हमने जाना, बड़े दौरे दिमाग में सब तरफ इलेक्ट्रिसिटी का तूफान फ़ैल जाने के कारण होती है.

अपेक्षित रूप से, बड़े दौरे के लक्षण भी बड़े होते है.

Generalized convulsion

 

फिरसे, नामो की जगह सीज़र के लक्षणों पर ध्यान दे. ये लक्षण समझना generalized Seizure meaning in Hindi जानने के लिए जरूरी है.

इन बड़े दौरों के अंग्रेजी नाम है एब्सेंट सीज़र, मायोक्लोनिक  सीज़र इत्यादि. इनके बारे में विस्तार में पढ़ने के लिए निचे के क्रॉस वाले चिन्ह को दबाये:

बड़े दौरे के लक्षण और अंग्रेजी नाम
छोटे दौरे का नामछोटे दौरे के लक्षण (Generalized Seizure meaning in Hindi)
एब्सेंट (पेटिट-माल) सीज़रमरीज़/बच्चा अनुत्तरदायी हो जाता है. उसकी आखें खुली रेहती है, पर वह अपने ही खयालो में खोया हुआ लगता है.
मायो-क्लोनिक सीज़रअचानक एक ही बार पूरा शरीर झटकता है, मानो आधे सेकंड के लिए कोई बिजली का करंट लगा हो.
स्पासमपूरा शरीर चंद सेकंड के लिए सख्त हो जाता है.

एब्सेंट (पेटिट-माल) सीज़र का एक उधारण मैंने आपको पाहिले दिखाया था, जिसमे लाल कमीज़ में का लड़का अनुत्तरदायी हो जाता है.

स्पासम सीज़र बच्चों में होते है. ये देखिये TSC alliance द्वारा बनाया गया एक वीडियो:

छोटे और बड़े दोनों ही दौरों में होने वाले लक्षण:

थोड़े लक्षण दोनों प्रकार के दौरों में हो सकते है – जैसे के हाथ-पाँव कड़क हो जाना या फिर जोर-जोर से हिलना.

जब अनियंत्रीत इलेक्ट्रिसिटी के एक ही हिस्से तक सिमित रहती है (छोटा दौरा), तब सिर्फ शरीर का एक ही भाग हिलता है.

जब ये अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी सारे दिमाग में फ़ैल जाती है (बड़ा दौरा) तो यही लक्षण पुरे शरीर में दिखाई देते है.

ऐसे दौरों के नाम है टोनिक सीज़र, क्लोनिक सीज़र इत्यादि. इनके बारे में विस्तार में पढ़ने के लिए निचे के क्रॉस वाले चिन्ह को दबाये:

छोटे और बड़े दौरों के लक्षण और अंग्रेजी नाम
छोटे और बड़े दौरे का नामलक्षण
टोनिक सीज़रशरीर या एक भाग या तो फिर पूरा शरीर सख्त हो जाता है.

ये थोड़े हद तक स्पासम की तरह होता है.

क्लोनिक सीज़रशरीर का एक भाग या तो फिर पूरा शरीर जोर-जोर से हिलने लगता है
टोनिक-क्लोनिक सीज़रशरीर थोड़ी देर सख्त होता है, फिर १०-१५ सेकंड बाद जोर-जोर से हिलने लगता है
ए-टोनिक सीज़रअचानक से शरीर के एक भाग का या फिर पुरे शरीर की ताकत चली जाती है.
ड्रॉप – एटेकमरीज़/बच्चा अचानक से निचे गिर जाता है.

अब तो आप Seizure meaning in Hindi में माहिर हो गए हो!

अब, सीज़र की जांच के बारे में पढ़ते है.

 

संक्षेप में

१. Seizure meaning in Hindi होता है मिर्गी का दौरा होता है.

२. हमारे दिमाग के हिस्से एक-दूसरे से नियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी के द्वारा बात कर है.

 

३. अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी से सीज़र के दौरे होते है.

४. जब ये अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी दिमाग के एक छोटे हिस्से में होती है, तो उसे छोटा दौरा (फोकल सीज़र – Focal Seizure) कहते है.

५. जब अनियंत्रित इलेक्ट्रिसिटी पुरे दिमाग में फैलती है, तो उसे बड़ा दौरा (जनरलाईड सीज़र – Generalized Seizure) कहते है.

६. छोटे और बड़े दौरों के लक्षण विस्तार में ऊपर बताये गए है.

 

जैसे आप बाद में, Epilepsy meaning in Hindi (मिर्गी का अर्थ) लेख में पढ़ेंगे:

१. ऍम-आर-आय दिमाग की तस्वीर लेता है. “३ टेस्ला” ऍम-आर-आय अति-उत्तम होता है.

२. इ-इ-जी दिमाग के इलेक्ट्रिसिटी को नापता है.

३. सीज़र/एपिलेप्सी के उपचार के लिए कई दवाइयां उपलब्ध है.

४. अगर २-३ दवाइयां असफल हो,तो सीज़र सर्जरी या वेगस-नर्व-स्टिमुलेटर (VNS) के बारे में सोचना चाहिए.

११. सीज़र सर्जरी या VNS की १००% गारंटी पूरी दुनिया में कोई नहीं दे सकता. पर ध्यान से, मन लगाकर ये उपचार करने से काफी मरीज़ों को बहोत लाभ होता है.

 

पार्किंसंस की पूरी जानकारी: एक-एक कर के पढ़े

१. Tremors Meaning in Hindi [ हाथ-पांव की कंपन का मतलब और कारण! ]
२. Parkinson's Meaning in Hindi [ पार्किंसंस रोग का अर्थ ]
३. Parkinson’s symptoms in Hindi [पार्किंसंस रोग के लक्षण]
४. Parkinson's treatment in Hindi [पार्किंसंस का उपचार]
५. Parkinson's new treatment (DBS) in Hindi [पार्किंसंस रोग नए उपचार]
चेतावनी: यह जानकारी केवल शिक्षण के लिए है. निदान और दवाई देना दोनों के लिए उचित डॉक्टर से स्वयं मिले। उचित डॉक्टर से बात किये बिना आपकी दवाइयां ना ही बढ़ाये ना ही बंद करे!!

डॉ सिद्धार्थ खारकर

डॉ  सिद्धार्थ खारकर को "आउटलुक इंडिया" और "इंडिया टुडे" जैसी पत्रिकाओं ने मुंबई के जाने-माने न्यूरोलॉजिस्ट्स में से एक के तोर पे पहचाना है.

डॉक्टर सिद्धार्थ खारकर न्यूरोलॉजिस्ट, मिर्गी  (एपिलेप्सी) विशेषज्ञ और पार्किंसंस विशेषज्ञ है।

उन्होंने भारत, अमेरिका और इंग्लॅण्ड के सर्वोत्तम अस्पतालों में शिक्षण प्राप्त किया है।  विदेश में  कई साल काम करने के बाद, वह भारत लौटे, और अभी मुंबई महरारष्ट्र में बसे है।

डॉक्टर सिद्धार्थ खारकर अंतरराष्ट्रीय पार्किंसंस और मूवमेंट डिसऑर्डर सोसाइटी के एक संशोधन गट के अंतरराष्ट्रीय संचालक है.

फोन 022-4897-1800

ईमेल भेजे

Leave a Comment

India Today Magazine - 2021Noted as one of the Best Neurologists in Mumbai